May 25, 2024

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

आस्था और विश्वास नीम करौली बाबा.. पंडित आरजू “अच्युत ” प्रयागराज🙏🏻🌹🙏🏻

आस्था और विश्वास नीम करौली बाबा..
पंडित आरजू “अच्युत ” प्रयागराज🙏🏻🌹🙏🏻

नवरात्रि के दिन बाबा नीब करौरी आश्रम कैंची धाम, उत्तराखण्ड जाने का सौभाग्य मिला। बेहतरीन धूप और मनमोहक छटा के बीच पहाड़ों पर जाना एक चुनौती पूर्ण और दुस्साहसिक काम होता है। फिर भी दर्शन के लिए निकल पड़े। और सौभाग्य से पहाड़ों पर मौसम बेहद सुहावना हो गया। हरियाली से लकदक घाटियाँ, पूरे वेग से बहते झरने किसी का भी मन मोह लेते हैं।

उत्तराखंड में हिमालय की सुरम्य वादियों में बसा एक छोटा सा आश्रम है. नाम है- नीम करोली बाबा आश्रम. एकदम शांत, साफ-सुथरी जगह, हरियाली, आध्यात्मिक सुकून देने वाली जगह।

समुद्र तल से 1400 मीटर की ऊंचाई पर स्थित नैनीताल-अल्मोड़ा मार्ग पर स्थित यह आश्रम धर्मावलंबियों के बीच कैंची धाम के रूप में लोकप्रिय है.

बाबा नीम करोली महाराज जी को समर्पित यह आश्रम हिंदू आध्यात्मिक गुरु के रूप में पूजे जाने वाले बाबा नीम करोली जी की आध्यात्मिक तपोस्थली है। बाबा हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त थे. उनको मानने वाले उन्हें हनुमान जी का ही अवतार मानते हैं।

नीम करोली या नीब करौरी बाबा ​की गिनती 20वीं सदी के महान संतों में की जाती है। उत्तराखण्ड के नैनीताल, भुवाली से 7 किलोमीटर दूर कैंची धाम आश्रम की स्थापना बाबा ने 1964 में की थी. 1961 में वे यहां पहली बार पहुंचे थे और अपने एक मित्र पूर्णानंद के साथ आश्रम बनाने का विचार किया था।
केवल उत्तराखंड में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी बाबा के चमत्कारों की चर्चा होती है।

कहा जाता है कि बाबा नीम करोली को 17 वर्ष की आयु में ही ईश्वर के बारे में बहुत विशेष ज्ञान हो गया था. हनुमान जी को वे अपना गुरु और आराध्य मानते थे. बाबा ने अपने जीवन में करीब 108 हनुमान मंदिर बनवाए. मान्यता है कि बाबा नीब करौरी को हनुमान जी की उपासना से अनेक चमत्कारिक सिद्धियां प्राप्त थीं. हालांकि वह आडंबरों से दूर रहते थे. एकदम आम आदमी की तरह जीने वाले बाबा नीम करोली तो अपना पैर भी छूने नहीं देते थे. ऐसा करने वालों को वे हनुमान जी के पैर छूने को कहते थे।

उन्हें इस युग के दिव्य पुरुषों में से एक माना जाता है. उत्तराखंड स्थि​त कैंची धाम में जब जून में वार्षिक समारोह होता है तो उनके भक्तों की खूब भीड़ लगती है. कैंची धाम में न केवल भारत के विभिन्न राज्यों, बल्कि विदेशों से भी उनके अनुयायी यहां पहुंचते हैं. पीएम मोदी, हॉलीवुड अभिनेत्री जूलिया राबर्ट्स, एप्पल के फाउंडर स्टीव जाब्स और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग, बिलग्रेट्स जैसी हस्तियां भी बाबा के भक्तों में शामिल हैं. ये लोग कैंची धाम आश्रम भी आ चुके हैं।
आगरा से निकले लक्ष्मीनारायण शर्मा से हनुमान जी स्वरुप माने जाने वाले पूज्य नीब करौली बाबा को प्रणाम..🚩🚩🙏🏻

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM