December 11, 2023

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

पूर्व राष्ट्रपति, प्रख्यात वैज्ञानिक, भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम जी की पुण्यतिथि  पर शत्-शत् नमन।

 

पूर्व राष्ट्रपति, प्रख्यात वैज्ञानिक, भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम जी की पुण्यतिथि  पर शत्-शत् नमन।

#APJAbdulKalam

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पाकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था अब्दुल कलाम जी का जन्म तमिलनाडु में रामेश्वरम के तमिल मुस्लिम परिवार में 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था। इनके पिता का नाम जैनलाब्दीन (Father’s Name) था जो पेशे से नावों को किराये पर देने और बेचने का काम करते थे। कलाम जी के पिता अनपढ़ थे पर उनके विचार आम सोच से कही उपर थी। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एक महान भारतीय वैज्ञानिक थे जिसने भारत के 11वें राष्ट्रपति के रुप में वर्ष 2002 से 2007 तक देश की सेवा की। वो भारत के सबसे प्रतिष्ठित व्यक्ति थे क्योंकि एक वैज्ञानिक और राष्ट्रपति के रुप में देश के लिये उन्होंने बहुत बड़ा योगदान दिया था। ‘इसरो’ के लिये दिया गया उनका योगदान अविस्मरणीय है।कलाम नेकलाम ने मिशन के तहत कई मिसाइलों को विकसित करने में प्रमुख भूमिका निभाई, जिनमें मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि और सतह से सतह पर मार करने वाली सामरिक मिसाइल पृथ्वी शामिल हैं। नंदी होवरक्राफ्ट : यह उनके कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए उनका पहला आविष्कार था।उन्होंने पृथ्वी, अग्नि, त्रिशूल, नाग व आकाश नामक मिसाइलें बनाई थीं।

जुलाई, 2015 को देश के 11वें राष्ट्रपति महान वैज्ञानिक डॉ एपीजे अब्दुल कलाम नें इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। कलाम जी का निधन मेघालय राज्य के शिलोंग मेँ हुआ था जब वह आईआईएम का लेक्चर ले रहे थे।उनका जन्म एक साधारण मछुआरे के परिवार में हुआ था, पेपर बेंच कर पढ़ाई की, मेहनत करने से कभी नहीं डरे, ईमानदारी से कभी नहीं हटे, उनका घर समुद्र के करीब था और उनकी इच्छाएं आकाश से आगे थीं। वह अपने पूरे जीवन काल में खुद में समुद्र की गहराई समेटे रहे और आकाश से आगे के रहस्य जानने की अपनी इच्छा को भी पूरा किया।

 

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM