December 10, 2023

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

प्रदीप मेहरा की लगन और ईमानदारी में उत्तराखंड दर्शन

 

 

प्रदीप मेहरा की लगन और ईमानदारी में उत्तराखंड दर्शन

यूँ तो बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री यमनोत्री मसूरी नैनीताल सुन्दर पहाड़ हरियाली के दर्शन के लिए देश दुनिया से लोग आते हैं  उत्तराखंड दर्शन के लिए पर उत्तराखंड व्यक्तित्व दर्शन आपको समझना होतो 19 साल के प्रदीप मेहरा में भी उत्तराखंड दर्शन हो जाते हैं।

कल से एक वीडियो फेसबुक और वट्सअप यू ट्यूब में बहुत वायरल हो रहा। वीडियो है सड़क में दौड़ते हुए एक लड़के का है जो 19 साल का है जिसका नाम प्रदीप मेहरा मूलतः अल्मोड़ा उत्तराखंड से है। वीडियो में जिस तरह प्रदीप रात में मैकडॉल्नलस रेस्टोरेंट की जॉब के बाद घर जाते वक्त नोयडा की सड़कों दौड़ लगाकर एक स्फूर्ति के साथ अपने लक्ष्य तरफ अग्रसर है प्रदीप सेना तैयारी कर रहा लगन जुनून के साथ प्रदीप जुनून जोश देख कह सकते हैं तपने के बाद सोना चमकता है।प्रदीप मेहरा की लगन और ईमानदारी में उत्तराखंड दर्शन

20 मार्च की शाम 6 बजकर 53 मिनट पर कुछ ऐसा होता है कि यह आम लड़का ट्विटर पर हीरो बन जाता है।

 

19 मार्च रात 12 बजे नोएडा

दरअसल, पूर्व पत्रकार व फिल्म निर्माता विनोद कापड़ी को 19 मार्च की रात 12 बजे नोएडा की सड़क पर एक लड़का पीठ पर बैग लेकर दौड़ लगाते हुए मिला। वह गाड़ी धीरे कर उसे लिफ्ट आफर करते हैं। पर वह मना कर देता है। उसके बाद कापड़ी से बात करते हुए जो लिफ्ट लेने से मना करने का कारण सामने आया उसे सुनकर सभी उसे सलाम करने लगते हैं।

 

लड़के का परिचय

वह लड़का बताता है कि उसका नाम प्रदीप मेहरा है। वह उत्तराखंड के जिला अल्मोड़ा का रहने वाला है और उसकी उम्र 19 साल है। वह नोएडा सेक्टर 16 के एक फास्टफूड रेस्टोरेंट में काम करता है। उसकी शिफ्ट रात 11 बजे खत्म होती है। उसके बाद वह प्रतिदिन बरोला अपने कमरे तक 10 किमी इसी तरह से दौड़ते हुए जाता है।

सेना में जाने का है सपना

प्रदीप सेना में भर्ती होना चाहता है। उसे सुबह के साथ तैयारी का मौका नहीं मिलता इसलिए वह रात में इसी तरह से अपनी प्रैक्टिस करता है। पीहू फिल्म के निर्देशक कापड़ी खुद उत्तराखंड पिथौरागढ़ जिले के मूल निवासी हैं और उनके पिता सेना में रहे हैं। प्रदीप के सेना में जाने के जज्बे को देखकर व कुमाऊंनी में बात करने लगते हैं और घर परिवार के बारे में पूछते हैं।

 

 

कुमाऊंनी में प्रदीप बताता है कि उसकी मां की तबीयत खराब है, उनका इलाज चल रहा है। मां हास्पिटल में भर्ती हैं। वह अपने बड़े भाई के साथ रहता है।

 

गाड़ी के बगल दौड़ लगा रहे प्रदीप से कापड़ी कहते हैं तुम तो वायरल होने वाले हो तो प्रदीप कहता है कि कौन पहचान रहा मुझे होने दो वायरल, दौड़ लगा रहा हूं कोई गलत काम थोड़े न कर रहा।

 

जब उसे खाना आफर किया जाता है तो वह बताता है कि उसके भाई प्राइवेट जॉब में हैं, उनकी नाइट ड्यूटी है। वह दौड़ पूरी कर घर पहुंचेगा तो खाना बनाएगा। उसे दोनों लोगों का खाना बनाना है। मैं खाना खा लूंगा पर भाई भूखा रह जाएगा।

 

आखिर में कापड़ी कहते हैं आज गाड़ी से घर छोड़ देता हूं तो प्रदीप कहता है कि ऐसे तो मेरी दौड़ की प्रैक्टिस छूट जाएगी। 2 मिनट 20 सेकेंड का यह वीडिया जमकर सराहा जा रहा है। कापड़ी ने वीडियो की टैग लाइन दी है – यह है खरा सोना

वीडियो देख लोगों ने प्रदीप की लगन और ईमानदारी को किया सलाम

विनोद कापड़ी ने इस वीडियो को शेयर करने के साथ ही कैप्शन में लिखा, ‘नोएडा की सड़क पर कल रात 12 बजे मुझे ये लड़का कंधे पर बैग टांगें बहुत तेज़ दौड़ता नज़र आया. मैंने सोचा किसी परेशानी में होगा , लिफ़्ट देनी चाहिए. बार बार लिफ़्ट का ऑफ़र किया पर इसने मना कर दिया. वजह सुनेंगे तो आपको इस बच्चे से प्यार हो जाएगा. वहीं दूसरा तरफ सोशल मीडिया पर प्रदीप के वीडियो को काफी पसंद किया जा रहा है. लोग इसके जज्बे को सलाम कर रहे हैं.

आप भी देखें प्रदीप मेहरा में उत्तराखंड दर्शन इस यू ट्यूब लिंक में https://m.youtube.com/watch?v=owlMygade4E&feature=youtu.be

 

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM