May 25, 2024

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

बुकनर्डस ने किया साहित्य का दंगल आयोजित शेरिल पटनायक बनी लिट्दंगल 3.0 की विजेता*

बुकनर्डस ने किया साहित्य का दंगल आयोजित शेरिल पटनायक बनी लिट्दंगल 3.0 की विजेता*

*

*देहरादून।* दून वैली की लोकप्रिय बुक डिस्कशन कम्युनिटी बुकनर्ड्स ने रविवार (28 अगस्त) को अपने प्रशंसित फ्लैगशिप इवेंट लिटदंगल के तीसरे संस्करण का आयोजन किया। बुकनर्डस Litदंगल एक साहित्यिक चुनौती है जहाँ कई लेखक और कवि अपने साहित्यिक कौशल से दर्शकों का दिल जीतने के लिए एक-दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा करते हैं और मंच साझा करते हैं। लिटदंगल के पिछले दो संस्करण लेखक और दर्शकों की भागीदारी और व्यापक मीडिया कवरेज के साथ अत्यधिक सफल रहे हैं।
वेन्यू पार्टनर ‘कैफे लाटा’ का धन्यवाद करते हुए, बुकनर्ड्स के सह-संस्थापक रोहन राज ने बुकनर्ड्स और पिछले लिटदंगल संस्करणों के संक्षिप्त परिचय व इतिहास के साथ सत्र की शुरुआत की और दो घंटे के इस साहित्यिक दंगल में शामिल होने वाले सभी नौ लेखकों का आभार किया। अगले कुछ समय तक सभी दर्शकों को प्रतियोगिता के नियमों के बारे में बताया गया और स्कोर कार्ड साझा किए गए।
केवल सात मिनट की प्रस्तुति के साथ, कैप्टन कुणाल नारायण उनियाल, सेतु, शेरिल पटनायक, तथागत आनंद, ब्रिगेडियर डॉ प्रदीप एस सिवाच, राजीव मगन, विजयश्री वंदिता, मृगतृष्णा और डॉ रुचि सिंह ने उत्कृष्ट प्रदर्शन दिया । उन्होंने बड़ी संजीदगी और उत्साह से अपनी मूल कृतियों का वर्णन किया । पूरे कार्यक्रम में दर्शकों की भागीरदारी काबिलेतारीफ़ थी। दर्शकों में दून घाटी के पुस्तक प्रेमी, विद्वान और बुद्धिजीवी शामिल थे, उन्हें विजेता का फैसला करने में बेहद मुश्किल हुई, शर्ली पटनायक जिन्होंने ‘The Call to Adventure’ किताब लिखी है , अंततः विजेता घोषित हुई । तालियों की गड़गड़ाहट और दर्शकों की प्रशंसा के साथ वे लिट दंगल की चर्चित बॉक्सिंग ग्लव्स अपने साथ ले गयीं।
बुकनर्डस की सह-संस्थापक नेहा राज के साथ, रोहन राज ने सभी प्रतिभागी लेखकों और विभिन्न इवेंट पार्टनर्स को सम्मानित किया, जिन्होंने लिटदंगल 3.0 को साकार किया। जिसमें हॉस्पिटैलिटी पार्टनर के रूप में ‘ऑल दैट शी बेक्स’ , बुकस्टोर पार्टनर के रूप ‘बुक वर्ल्ड’ , ‘हेलो इंस्टीट्यूट’ , एजुकेशन पार्टनर के रूप में, ‘ओहो रेडियो’, रेडियो पार्टनर के रूप में और ‘देहरादून से’ आउटरीच पार्टनर के रूप में शामिल हुए ।
प्रतिभागी लेखकों और दर्शकों के बीच एक संक्षिप्त बातचीत के बाद रोहन राज ने सभी लेखकों, प्रायोजकों, और उपस्थित लोगों का विशेष रूप से धन्यवाद ज्ञापन के साथ सत्र का समापन किया।
यह कार्यक्रम लेखकों द्वारा बुक साईनिंग व फोटो सेशन के साथ समाप्त हुआ। किताबों को लोगों तक पहुंचाने की इस कोशिश में बुकनर्डस सदैव अपना योगदान देता रहेगा । फिलहाल पढ़ते रहें किताबें ।हैप्पी रीडिंग इस शानदार स्लोगन विचार के साथ कार्यक्रम समापन हुआ।

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM