April 24, 2024

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

कोलकाता के स्टूडेंट  श्लोक मुखर्जी  Doodle for Google प्रतियोगिता के विनर बने 24 लाख रुपये स्कॉलरशिप के विनर

 

 

कोलकाता के स्टूडेंट  श्लोक मुखर्जी  Doodle for Google प्रतियोगिता के विनर

बने 24 लाख रुपये स्कॉलरशिप के विनर

 

 

बाल दिवस के मौके पर गूगल होमपेज पर खास डूडल दिख रहा है, जिसे कोलकाता के स्टूडेंट श्लोक मुखर्जी ने बनाया है। दरअसल, श्लोक को इस साल Doodle for Google प्रतियोगिता का विजेता चुना गया है

बने 24 लाख रुपये स्कॉलरशिप के विनर

बाल दिवस के मौके पर सर्च इंजन गूगल अपने होमपेज पर टाइटल की जगह खास डूडल दिखा रहा है। ऐसे डूडल अलग-अलग त्योहारों के मौके पर दिखते हैं, जिन्हें कंपनी की क्रिएटिव टीम डिजाइन करती है लेकिन आज गूगल होम पर दिख रहा डूडल कोलकाता में रहने वाले नन्हे श्लोक ने बनाया है। श्लोक ‘डूडल फॉर गूगल’ प्रतियोगिता के विजेता चुने गए हैं और बाल दिवस पर उन्हें खास पुरस्कार मिला है।

गूगल हर साल Doodle for Google प्रतियोगिता का आयोजन करती है, जिसमें नन्हे बच्चों को अपनी कलाकारी, रचनात्मकता, कल्पना और प्रतिभा दिखाने का मौका मिलता है। Doodle for Google 2022 में देशभर के 1,15,000 बच्चों ने हिस्सा लिया था, जिनमें से बेस्ट एंट्रीज का चुनाव करते हुए उनके लिए ऑनलाइन वोटिंग करवाई गई थी। विजेता के तौर पर कोलकाता के स्टूडेंट श्लोक मुखर्जी की एंट्री को सबसे ज्यादा वोट मिले।

गूगल मैप को पता है कि कब-कहां जा रहे हैं आप, फौरन डिलीट करें सर्च हिस्ट्री और लोकेशन टाइमलाइन
खास विषय पर बनाना था गूगल डूडल
सर्च इंजन कंपनी ने इस साल गूगल डूडल बनाने के लिए कक्षा 1 से लेकर 10 तक के स्टूडेंट्स को मौका दिया था। इस साल प्रतियोगिता का विषय, “अगले 25 साल में मेरा भारत कैसा होगा?” रखा गया था। बच्चों ने डूडल में दिखाया था कि वे 25 साल बाद कैसे भारत की कल्पना करते हैं और क्या बदलाव देखना चाहते हैं। श्लोक ने अपनी पेटिंग में विज्ञान और प्रकृति के बीच संतुलन दिखाया और योग-आर्युवेद को भी इसमें शामिल किया।

श्लोक के डूडल में क्या दिखाया गया है?
अपने डूडल को श्लोक ने ‘केंद्रीय मंच पर भारत’ (India on the cenyter stage) टाइटल दिया है। श्लोक ने लिखा, “अगले 24 साल में, मेरे भारत के वैज्ञानिक मानवता के विकास के लिए खुद का इको-फ्रेंडली रोबोट बनाएंगे। भारत पृथ्वी से अंतरिक्ष के बीच यात्राएं करेगा। भारत योग और आयुर्वेद के क्षेत्र में विकसित होगा और आने वाले वर्षों में और भी मजबूत होता जाएगा।” बता दें, श्लोक कोलकाता के न्यू टाउन स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में पढ़ रहे हैं।

चार ग्रुप्स में ये बच्चे बने प्रतियोगिता के विजेता
ग्रुप 1-2 में विशाखापत्तनम की कनाकला श्रीनिका, ग्रुप 5-6 में गुरुग्राम की दिव्यांशी सिंघल, ग्रुप 7-8 में रांची की पिहू कच्छप और ग्रुप 9-10 में विशाखापत्तनम की ही पुप्पला इंदिरा जाह्नवी को विजेता चुना गया है। विजेताओं का चुनाव खास जजेस पैनल और 552,000 पब्लिक वोट्स के जरिए किया गया। श्लोक का डूडल ग्रुप 3-4 में बेस्ट चुना गया है और गूगल इंडिया की VP मार्केटिंग सपना चड्ढा ने सभी विजेताओं और प्रतिभागियों को बधाई दी है।

विजेताओं को मिलते हैं खास पुरस्कार
डूडल फॉर गूगल प्रतियोगिता में विजेता चुने गए स्टूडेंट्स को टेक कंपनी की ओर से 30,000 डॉलर (करीब 24 लाख रुपये) की स्कॉलरशिप मिलती है। इसके अलावा उन्हें उनके डूडल आर्ट वाली टीशर्ट, एक गूगल क्रोमबुक और डिजिटल डिजाइन टैबलेट दिया जाता है, जिससे वे आगे भी अपनी क्रिएटिविटी बनाए रख सकें।

 

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM