May 29, 2024

Ajayshri Times

सामाजिक सरोकारों की एक पहल

नईदिल्ली के जसबीर सिंह सैनी झंडे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे।

 

  • नई दिल्ली के जसबीर सिंह सैनी झंडे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे।

 

 

ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेला पंचमी तिथि 22 मार्च मंगलवार सेे शुरू होगा।

मेले में झंडेजी पर गिलाफ चढ़ाने की भी अनूठी परंपरा है। चैत्र पंचमी के दिन झंडे की पूजा-अर्चना के बाद पुराने झंडेजी को उतारा जाता है और ध्वजदंड में बंधे पुराने गिलाफ, दुपट्टे आदि हटाए जाते हैं। दरबार साहिब के सेवक दही, घी और गंगाजल से ध्वजदंड को स्नान कराते हैं। इसके बाद शुरू होती है। झंडेजी को गिलाफ चढ़ाने की प्रक्रिया। झंडेजी पर पहले सादे (मारकीन के) और फिर सनील के गिलाफ चढ़ाए जाते हैं। सबसे ऊपर दर्शनी गिलाफ चढ़ाया जाता है और फिर पवित्र जल छिड़ककर श्रद्धालुओं की ओर से रंगीन रुमाल, दुपट्टे आदि बांधे जाते हैं।

 

इस साल नई दिल्ली निवासी बलजिंदर सिंह सैनी पुत्र जसबीर सिंह सैनी झंडे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे। उनके परिजनों की ओर से कराई गई बुकिंग के आधार पर इस वर्ष 100 साल बाद बलजिंदर सिंह और उनके परिजनों को यह मौका मिलेगा। साथ ही वर्ष 2122 तक के लिए दर्शनी गिलाफ की बुकिंग आरक्षित हो गई है। इससे पहले झंडे जी के आरोहण और मेले की तैयारियों को लेकर श्री दरबार साहिब के महंत श्री देवेंद्र दास महाराज ने शनिवार को तैयारियों का जायजा लिया। वहीं जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मेला आयोजन समिति के साथ बैठक की।
ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेला पंचमी तिथि 22 मार्च मंगलवार सेे शुरू होगा। इस साल नई दिल्ली निवासी बलजिंदर सिंह सैनी पुत्र जसबीर सिंह सैनी झंडे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे। उनके परिजनों की ओर से कराई गई बुकिंग के आधार पर इस वर्ष 100 साल बाद बलजिंदर सिंह और उनके परिजनों को यह मौका मिलेगा। साथ ही वर्ष 2122 तक के लिए दर्शनी गिलाफ की बुकिंग आरक्षित हो गई है। इससे पहले झंडे जी के आरोहण और मेले की तैयारियों को लेकर श्री दरबार साहिब के महंत श्री देवेंद्र दास महाराज ने शनिवार को तैयारियों का जायजा लिया। वहीं जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मेला आयोजन समिति के साथ बैठक की।

बैठक में ट्रैफिक व्यवस्था, संगतों के वाहनों की पार्किंग, सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था, मेला आयोजन स्थल पर पुलिस थाने का संचालन, मेला अस्पताल का संचालन, एम्बुलेंस व्यवस्था, श्री दरबार साहिब में प्रवेश और निकास के लिए आवश्यक वन-वे व्यवस्था जैसे मुद्दों पर बात की गई। मेला व्यवस्थापक केसी जुयाल ने बताया कि मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसके लिए मेला आयोजन से जुड़ी 50 समितियां अपना कार्य कर रही हैं। श्री दरबार साहिब के प्रतिनिधि सुबोध उनियाल पंजाब की पैदल संगत के लिए श्री महंत देवेंद्र दास महाराज का हुक्मनामा लेकर गए हैं।

श्री गुरु राम राय महाराज की जयंती पर हर साल श्री दरबार साहिब में श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। श्री गुरु राम राय महाराज का जन्म पंजाब के कीरतपुर (जिला होशियारपुर) में वर्ष 1646 में होली के पांचवें दिन चैत्रवदी पंचमी पर हुआ था। तब से हर साल संगतों की ओर से दून में होली के पॉंचवें दिन (चैत्रवदी पंचमी) ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। बैठक में सिटी मैजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, एसपी ट्रैफिक अक्षय प्रताप कौंडे, एसपी सिटी सरिता डोभाल, सीओ सिटी जूही मनराल, विजय गुलाटी, डीपी जशोला, भूपेन्द्र रतूड़ी, सतीश पुरोहित, राजेन्द्र ध्यानी, ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेला पंचमी तिथि 22 मार्च मंगलवार सेे शुरू होगा। इस साल नई दिल्ली निवासी बलजिंदर सिंह सैनी पुत्र जसबीर सिंह सैनी झंडे जी पर दर्शनी गिलाफ चढ़ाएंगे। उनके परिजनों की ओर से कराई गई बुकिंग के आधार पर इस वर्ष 100 साल बाद बलजिंदर सिंह और उनके परिजनों को यह मौका मिलेगा। साथ ही वर्ष 2122 तक के लिए दर्शनी गिलाफ की बुकिंग आरक्षित हो गई है। इससे पहले झंडे जी के आरोहण और मेले की तैयारियों को लेकर श्री दरबार साहिब के महंत श्री देवेंद्र दास महाराज ने शनिवार को तैयारियों का जायजा लिया। वहीं जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मेला आयोजन समिति के साथ बैठक की।

बैठक में ट्रैफिक व्यवस्था, संगतों के वाहनों की पार्किंग, सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था, मेला आयोजन स्थल पर पुलिस थाने का संचालन, मेला अस्पताल का संचालन, एम्बुलेंस व्यवस्था, श्री दरबार साहिब में प्रवेश और निकास के लिए आवश्यक वन-वे व्यवस्था जैसे मुद्दों पर बात की गई। मेला व्यवस्थापक केसी जुयाल ने बताया कि मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसके लिए मेला आयोजन से जुड़ी 50 समितियां अपना कार्य कर रही हैं। श्री दरबार साहिब के प्रतिनिधि सुबोध उनियाल पंजाब की पैदल संगत के लिए श्री महंत देवेंद्र दास महाराज का हुक्मनामा लेकर गए हैं।

श्री गुरु राम राय महाराज की जयंती पर हर साल श्री दरबार साहिब में श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। श्री गुरु राम राय महाराज का जन्म पंजाब के कीरतपुर (जिला होशियारपुर) में वर्ष 1646 में होली के पांचवें दिन चैत्रवदी पंचमी पर हुआ था। तब से हर साल संगतों की ओर से दून में होली के पॉंचवें दिन (चैत्रवदी पंचमी) ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। बैठक में सिटी मैजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, एसपी ट्रैफिक अक्षय प्रताप कौंडे, एसपी सिटी सरिता डोभाल, सीओ सिटी जूही मनराल, विजय गुलाटी, डीपी जशोला, भूपेन्द्र रतूड़ी, सतीश पुरोहित, राजेन्द्र ध्यानी, अनिल दास, सोम प्रकाश शर्मा, शैलेश कैलखुरा आदि मौजूद रहे।

दास, सोम प्रकाश शर्मा, शैलेश कैलखुरा आदि मौजूद रहे।

बैठक में ट्रैफिक व्यवस्था, संगतों के वाहनों की पार्किंग, सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था, मेला आयोजन स्थल पर पुलिस थाने का संचालन, मेला अस्पताल का संचालन, एम्बुलेंस व्यवस्था, श्री दरबार साहिब में प्रवेश और निकास के लिए आवश्यक वन-वे व्यवस्था जैसे मुद्दों पर बात की गई। मेला व्यवस्थापक केसी जुयाल ने बताया कि मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसके लिए मेला आयोजन से जुड़ी 50 समितियां अपना कार्य कर रही हैं। श्री दरबार साहिब के प्रतिनिधि सुबोध उनियाल पंजाब की पैदल संगत के लिए श्री महंत देवेंद्र दास महाराज का हुक्मनामा लेकर गए हैं।

श्री गुरु राम राय महाराज की जयंती पर हर साल श्री दरबार साहिब में श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। श्री गुरु राम राय महाराज का जन्म पंजाब के कीरतपुर (जिला होशियारपुर) में वर्ष 1646 में होली के पांचवें दिन चैत्रवदी पंचमी पर हुआ था। तब से हर साल संगतों की ओर से दून में होली के पॉंचवें दिन (चैत्रवदी पंचमी) ऐतिहासिक श्री झंडे जी मेले का आयोजन किया जाता है। बैठक में सिटी मैजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, एसपी ट्रैफिक अक्षय प्रताप कौंडे, एसपी सिटी सरिता डोभाल, सीओ सिटी जूही मनराल, विजय गुलाटी, डीपी जशोला, भूपेन्द्र रतूड़ी, सतीश पुरोहित, राजेन्द्र ध्यानी, अनिल दास, सोम प्रकाश शर्मा, शैलेश कैलखुरा आदि मौजूद रहे।

Please follow and like us:
Pin Share

About The Author

You may have missed

Enjoy this blog? Please spread the word :)

YOUTUBE
INSTAGRAM